युवराज सिंह ने बल्ले से ही नहीं, खेल भावना दिखाकर भी जीता दिल

0
19
http://reportbreaks.com/wp-content/uploads/2016/08/Greenland.jpg

नई दिल्लीः IPL-10 के पहले मैच में सनराइजर्स हैदराबाद ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को 35 रन से हरा दिया. इस मैच के हीरो रहे युवराज सिंह ने मात्र 27 गेंदों पर 62 रन बनाए. युवी ने सिर्फ 23 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया. मैदान और मैदान के बाहर युवराज ने केवल बल्ले से सबका दिल नहीं जीता बल्कि खेल भावना दिखाने में वो सच में युवराज साबित हुए. जी हां बुधवार को खेले गए मुकाबले में कुछ ऐसा हुआ कि क्रिकेट के युवराज ने मैदान पर बल्ले के साथ खेल के प्रति अपना सच्ची भावना दिखाते हुए भी सभी अपना मुरीद कर दिया.
दरअसल मैच के हैदराबाद की पारी के दौरान मैच के 13वें ओवर में युवराज सिंह ने आरसीबी के गेंदबाद अनिकेत चौधरी को दो चौके और एक छक्का जड़ दिया था, इस ओवर की आखिरी गेंद पर भी युवराज ने हवा में शॉट खेला लेकिन इस बार बॉल सीधी डीप स्केवेयर लेग पर खड़े आरसीबी के श्रीनाथ अरविंद के हाथों में पहुंची. पर शायद किस्मत युवराज के साथ थी, श्रीनाथ सही से बॉल को जज नहीं कर सके और कैच छूट गया.
-IPL करियर का पहला मैच खेल रहे अनिकेत इस कैच के छूटने से थोड़ा निराश थे. वे दुखी इसलिए भी थे क्योंकि उनके इस ओवर में युवी उनकी बुरी धुलाई कर चुके थे. ऐसे में 26 रन पर खेल रहे युवराज का गोल्डन विकेट हाथ से निकलने से अनिकेत को बुरा लगा.
ये बात युवराज खुद भी जानते थे कि उनका विकेट न मिल पाना इस युवा गेंदबाज के लिए कितना निराशा भरा रहा है. इसलिए कैच छूटने के बाद युवी खुद अनिकेत के पास गए और उनसे हाथ मिलाते हुए उनका हौसला बढ़ाया. युवराज की इस हौसलाअफजाई को देख सब हैरान रह गए. क्योंकि उन्हें ऐसा कुछ करने की जरूरत नहीं थी. जिसके बाद कमेंटेटर्स ने युवी की तारीफ करते हुए उनके बिहैवियर को बड़े क्रिकेटर होने की निशानी बताया.

कोई जवाब दें