गोम्बी का शौक आतंकियों का शिकार, बोको हराम भी खाता है खौफ

0
21
http://reportbreaks.com/wp-content/uploads/2016/08/Greenland.jpg

पश्चिम एशिया जहां इस्लामिक स्टेट के आतंकियों से सबसे अधिक खौफजदा है। वहीं पश्चिम अफ्रीकी देश नाइजीरिया में बोको हराम का आतंक है। लेकिन जिस बोको हराम के आतंकियों के खिलाफ मोर्चा खोलने से पहले सेना भी एक बार सोचती है, उन्हीं आतंकियों का शिकार 38 वर्षीय महिला आयशा बाकरी गोम्बी करती हैं।

गोम्बी भले ही दुनिया में उतनी चर्चित नहीं है, लेकिन नाइजीरियाई मीडिया और लोगों की चहेती हैं। उनका जन्म बोको हरम के गढ़ बन चुके समबिसा के जंगली इलाके में हुआ था। वह बताती हैं कि पहले वह अपने दादा के साथ हिरण, बबून और जंगली सुअर का शिकार करती थी। लेकिन अब मैं बोको हराम का शिकार करती हूं।

गोम्बी कहती है कि चिहूक प्रांत में सेना ने बोको हराम के आतंकियों से लोहा लेने के लिए हजारों लोगों को स्वयंसेवकों तैनात किया था। लेकिन वह कुछ चुनिंदा महिलाओं में हैं और स्थानीय लोगों में किसी सेलिब्रिटी की तरह है। स्थानीय लोग भी उनके दावे का समर्थन करते हुए कहते हैं, गोम्बी एक दिलेर महिला हैं और यही वजह है कि हम उन्हें ‘शिकारियों की रानी’ कहते हैं।

पहले मिशन में हुईं थी फेल: गोम्बी ने बताया कि वह अपने पहले मिशन में पूरी तरह से अफसफल हुई थीं। उन्होंने कहा, जब मैं दग्गू इलाके में बोको हराम के आतंकियों का मुकाबला करने गई तो वे भारी हथियारों से लैस थे। इसलिए हमें उन्हें छोड़ना पड़ा। लेकिन सेना से आधुनिक हथियार मिलने के बाद अब हम उन्हें उन्हीं के ठिकाने पर जाकर ललकारते हैं।

कोई जवाब दें